धान की खेती में कौन सी खाद लगती है?

||धान की खेती में कौन – कौन सी खाद लगती है? | Which fertilizers are used in paddy cultivation? | 1 एकड़ खेत में कितनी खाद डालनी चाहिए? | धान की फसल में यूरिया खाद क्यों डालनी नहीं चाहिए? | धान की रोपाई से पहले कौन सी खाद खेत में डालनी चाहिए ||

किसी भी फसल की उपज को बेहतर करने के लिए फसल को समय पर पानी समय पर पर्याप्त खाद मिलना बहुत जरूरी होती है। लेकिन अधिकांश किसान समय पर फसल को खाद नही दे पाते है। ऐसे ने अक्सर किसानों को फसल की तरफ से निराशा मिलती है। लेकिन ऐसा ना हो इसलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में धान की खेती में कौन-कौन सी खाद लगती है इसके बारे में पर्याप्त जानकारी देने जा रहे हैं।

दोस्तो सभी जानते है कि भारत मे धान की पैदावार बड़ी मात्रा में की जाती है। और धान की पैदावार को बढ़ाने के लिए धन की फसल को समय पर खाद मिलना बहुत जरूरी होता है। इसलिए आज हम अपने किसानों के लिए इस आर्टिकल के माध्यम से धान की खेती में कौन-कौन सी खाद डालनी चाहिए इसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं-

धान की खेती में कब खाद डालनी चाहिए?

किसानों के लिए धान की खेती में कब खाद डालनी चाहिए? अक्सर यह सवाल परेशान करता है। लेकिन अब अगर आप किस है तो आपको बिल्कुल भी परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि नीचे हमने धान की फसल में कब और कौन सी खाद डालनी चाहिए उसके बारे में बताया है।

धान की खेती में कौन सी खाद लगती है

खेत की जुताई के समय

खेत मे पैदा करने वाली किसी भी फसल के लिए खेत की मिट्टी का अहम रोल होता है। और खेत की मिट्टी की ताकत को बढ़ाने के लिए गोबर से तैयार की गई मिट्टी बहुत उपयोगी होती है। ऐसे में अगर आप धान की पैदावार बढ़ाना चाहते है तो आपको खेत की जुताई के समय एक एकड़ खेत मे गोबर की खाद और 40 किलोग्राम नत्रजन एवं 25 किलोग्राम फास्पोरस, 25 किलोग्राम पोटाश मिलाकर जरूर डालनी चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो निश्चित ही आपके धान की फसल काफी अच्छी होगी।

धान की रोपाई के एक सप्ताह बाद

दोस्तों धान की उपज बढ़ाने के लिए धानन की रोपाई की एक सप्ताह बाद खाद डालना बहुत उपयोगी होता है। धान की रोपाई के बाद एक एकड़ में लगभग आपको 50 किलोग्राम डीएपी खाद जरूर डालनी चाहिए। किसान मित्र इसके साथ ही आपको बता दें कि अगर आपके खेत में ज्यादा पानी है तो उसे निकाल दें। कहने का मतलब खेत में उतना ही पानी रखें जीतने में खाद खुल सके।

धान रोपाई के 25 से 25 दिन बाद

धान की रोपाई के 20 से 25 दिनों बाद धान की फसल में किल्ले निकालने लगते हैं और इस समय इन किल्लो को खाद की बेहद आवश्यकता होती है। तो इस टाइम पर आप अपने धन की फसल को लगभग 10 किलोग्राम जिंक एवं 40 यूरिया को मिलाकर खेत में छिड़क दें। ऐसा करने से धान की पौध को एक नई ऊर्जा मिलेगी। जिससे पौध में कोई बीमारी नही होगी और धान की पैदावार अच्छी होगी।

धान की बालिया निकलने के समय

किसान मित्रो जब आपके धान की पौध में बालिया निकल आये तब आपको अपने धान की फसल में लगभग 30 किलोग्राम पोटाश एवं 30 किलोग्राम यूरिया को मिलाकर खेत में डाल देना है। ऐसा करने से आपके धान की बालियां जल्दी निकलते हैं और कीड़ों से धान की फसल को सुरक्षा मिलती है।

Which fertilizers are used in paddy cultivation? Related FAQ

धान में डीएपी कब एवं कितना डालना चाहिए

धान में डीएपी की खाद धान की रोपाई के एक सप्ताह बाद डालनी चाहिए

धान में कितनी डीएपी डालना चाहिए

धान की रोपाई के एक सप्ताह बाद 50 किलोग्राम डीएपी खाद लगभग 1 एकड़ खेत में डाल सकते हैं।

धान की फसल में यूरिया खाद डालने से क्या होता है

दोस्तों अगर आप धान की फसल में यूरिया खाद डालने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको बता दें कि धान की फसल में अधिक मात्रा में यूरिया खाद बिल्कुल ना डालें। क्योंकि यूरिया खाद डालने से धान के पौधे मीठे हो जाते हैं जिससे पौधे में कीड़े लगने की संभावना बढ़ जाती है।

धान की रोपाई से पहले कौन सी खाद खेत में डालनी चाहिए

धान की रोपाई से पहले खेत में जुटा के समय 40 किलोग्राम नत्रजन एवं 25 किलोग्राम फास्फोरस और 25 किलो ग्राम पोटाश मिलकर एक एकड़ में डालनी चाहिए।

धान की फसल में कौन सी खाद कब ,कैसे और कितनी डालें / धान की उन्नत खेती कैसे करें / paddy cultivation

निष्कर्ष

किसान मित्रों तो यह था आज का हमारा आर्टिकल जिसमें हमने आपको धान की खेती में कौन सी खाद लगती है? और यह खाद कब डालनी चाहिए इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी साझा की है मैं आशा करता हूं कि आपको हमारी जानकारी उपयोग की साबित हुई होगी।

किसान मित्रों अगर आपको खेती से जुड़ी अन्य किसी तरह की कोई जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हमारी टीम जल्द आपके साथ जुड़कर आपके सवालों का जवाब देगी

Leave a Comment