आपको ज्ञात होगा कि वर्ष 2012 में करायी गयी पशुगणना के आंकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश में 205.66 लाख गोवंश थे। जिसमें सड़ 12 लाख गोवंश लगभग निराश्रित थे।

जिन्हें आश्रय प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बहुत से प्रयासों को किया गया था और अब एक प्रयास करते हुए।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी बेसहारा गाय सहभागिता योजना 2022 को शुरू करने के निश्चित किया है। जिसके तहत अगर कोई किसान किसी बेसहारा या आबारा पशु को पलता है, तो उसे प्रति कुछ सहायता राशि सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी।

जिससे प्रदेश के किसानों को पैसे कमाने का एक अवसर उपलब्ध होगा और प्रदेश के आबारा को आश्रय मिल सकेगा।

इसलिए अगर आप भी उत्तर प्रदेश में निवास करते है, तो ये योजना आपके लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती है।

गोवंश सहभागिता योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को आय के अवसर उपलब्ध कराने और प्रदेश में घूमने वाले बेसहारा और आबारा पशुओं को आश्रय प्रदान करने के लिए शुरू की गयी कल्याणकारी योजना है।

जिसके अंतर्गत अगर कोई व्यक्ति किसी आबारा पशु का पालन पोषण करता है, तो उसे सरकार द्वारा प्रतिदिन 30 रुपये प्रति पशु की सहायता राशि विभाग द्वारा पालनहार को प्रदान की जायेगी।

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।