भारत अभी भी एक कृषि प्रधान देश है और देश की एक बड़ी आबादी खेती से गुजर बसर करती है। लेकिन दोस्तों, यह भी एक कड़वी सच्चाई है कि अधिकांश किसानों की हालत इतनी अच्छी नहीं कि वे खेती को आधुनिक तरीके से कर सकें।

इसके लिए उपकरण खरीद सकें। इसलिए केंद्र सरकार ने स्माम किसान योजना शुरू की है। उसका मकसद है कि किसान बेहतर फसल उत्पादन के जरिये अपनी आय में बढ़ोत्तरी कर सकें।

हम जानते ही हैं कि केंद्र सरकार का लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है। इसके लिए सरकार सभी प्रयोजन कर रही है। दोस्तों, आज इस पोस्ट के जरिये हम आपको स्माम किसान योजना के बारे में विस्तार से बताएंगे।

स्माम किसान योजना के बारे में जानकारी देने से पहले आइए आपको सबसे पहले आपको स्माम यानी SMAM किसान योजना का पूरा नाम बताते हैं। इस योजना का पूरा नाम Sub Mission On Agriculture Mechandization (SMAM) रखा गया है।

इस योजना का केंद्र सरकार ने किसानों के लिए शुरू किया है। वह इसलिए ताकि उन्हें खेती के लिए आधुनिक उपकरण खरीदने में किसी तरह दिक्कत पेश न आए।

इस योजना के तहत किसानों को उपकरणों की खरीद पर 50 प्रतिशत से लेकर 80 फीसदी तक की सब्सिडी का प्रावधान किया गया है। इससे किसान के लिए कम समय और लागत में बेहतर पैदावार लेना संभव है।

कुल मिलाकर यह योजना आर्थिक रूप से बहुत सक्षम न होने वाले किसानों के लिए तो बहुत ही लाभकारी है। स्माम किसान योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी उनके लिए अच्छी खासी मदद साबित हो सकती है।

स्माम किसान योजना इसकी अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?