चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

पोस्ट आफिस सीनियर सिटीजन स्कीम यानी एससीएसएस (SCSS) जैसा कि नाम से ही पता चल जाता है, वरिष्ठ नागरिकों के लिए पोस्ट आफिस (post office) की ओर से चलाई जा रही है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

यह स्कीम उन लोगों के लिए है, जो अपने निवेश  पर बेहतर रिटर्न पाना चाहते हैं। इस स्कीम में कई छोटी बचत योजनाओं की अपेक्षा अच्छा रिटर्न है। वर्तमान में इस योजना के अंतर्गत 7.4 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज मिल रहा है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

पोस्ट आफिस की वरिष्ठ नागरिकों के लिए चलाई जा रही इस बचत योजना के अंतर्गत न्यूनतम 1,000 रूपये से भी खाता खुलवाया जा सकता है। साथ ही विशेष बात यह है कि इस खाते में अधिकतम 15 लाख रूपये तक का निवेश किया जा सकता है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

लोग अपनी राशि इस खाते में निवेश करना इसलिए भी पसंद करते हैं, क्योंकि इस निवेश पर उन्हें आयकर अधिनियम (income tax)-1961 की धारा 80सी के अंतर्गत छूट (rebate) का प्रावधान किया गया है।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

पोस्ट आफिस की इस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम का मैच्योरिटी पीरियड पांच वर्ष है। इसका अर्थ यह है कि इसमें केवल पांच साल तक के लिए ही निवेश किया जा सकता है। 

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

यदि कोई व्यक्ति चाहे तो इसे पांच वर्ष पश्चात पुनः तीन साल तक के लिए बढ़ा सकता है, लेकिन इसके लिए निवेश की अवधि बढ़ाने के इच्छुक वरिष्ठ नागरिक को स्कीम मैच्योर होने के साल भर के भीतर पुनः पोस्ट आफिस जाकर इसके लिए आवेदन करना होगा।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

यदि खाताधारक वरिष्ठ नागरिक चाहे तो वह मैच्योरिटी से पूर्व भी इस योजना के अंतर्गत खोला गया अपना खाता बंद कर सकते हैं। यदि वह खाता खोले जाने के एक वर्ष से पूर्व अपना खाता बंद कराता है तो उस पर कोई चार्ज नहीं पड़ेगा, लेकिन यदि वह एक वर्ष के बाद इसे बंद करता है तो इसके लिए उस पर चार्ज लगेगा।

चाहे बैंक हों अथवा पोस्ट आफिस हमारे देश में सीनियर सिटीजंस के लिए कई प्रकार की स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनमें उन्हें बेहतर रिटर्न मिल रहा है। यह तो आप जानते ही होंगे कि वरिष्ठ नागरिकों को इन्कम टैक्स में भी छूट का प्रावधान किया गया है। यदि बात पोस्ट आफिस की करें तो वह भी सीनियर सिटीजन के लिए एक सेविंग स्कीम लेकर आया है।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम 2022 ब्याज दर, योग्यता, लाभ और कैलकुलेशन की अधिक जानकारी के लिए नीचे क्लीक करें -