Diwali Puja Muhurat Time: शुभ मुहूर्त में ही करें महालक्ष्मी का पूजन, विशेष फलदायी होता है, जाने मुहूर्त

धनतेरस के साथ ही पांच दिवसीय दीपोत्सव शुरू हो गया है। धनतेरस का पर्व शनिवार व रविवार को मनाया गया है।

इसी तरह से रूप चौदस का पर्व भी रविवार को भी मनाया जा रहा है। रूप चौदस आज रविवार को 4:45 से आयेगी, और सोमवार को शाम पांच बजकर 29 मिनिट तक रहेगी।

इसके बाद कार्तिक अमावस्या प्रारंभ होगी। इसके बाद महालक्ष्मी का पूजन प्रारंभ हो जायेगा।

मंगलवार को सूर्य ग्रहण होने का सूतक 12 घंटे पहले लग जाता है। इसलिए सूतक चार बजे से लगेगा।

इसलिए मंदिर के पट रात में बंद होने के बाद बुधवार को खुलेंगे। इसलिये गोर्वधन पूजन व अन्नकूट का आयोजन भी बुधवार को किया जायेगा।

हवन पूजन में शुभ मुहुर्त का विशेष महत्व रहता है। इसलिये हवन पूजन शुभ लग्न व मुहुर्त करना ही विशेष फलदायी होता है।

23 अक्टूबर धन्वंतरी पूजन सांय 04:45 बजे तक

23 अक्टूबर रूप चौदस / नरक चतुर्दशी सांय 4:45 बजे उपरांत

24 अक्टूबर दीपावली

Diwali Puja Muhurat Time: दीपावली पूजन के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त

अमृत सुबह छह बजे ,से साढ़े सात बजे तक शुभ- सुबह नौ बजे से 10:30 बजे तक

चर - दोपहर डेढ़ बजे से तीन बजे तक लाभ - दोपहर तीन बजे से साढ़े चार बजे तक