ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखें? जमीन का नक्शा, जमाबंदी

1

आज के इस लेख में हम ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखा जाता है इसके बारे में जानकारी देने वाले है । कर्नाटक के नगरवासियों , अब आपके लिए पोर्टल योजना निकाली गई है ताकि कर्नाटक के लोग घर बैठे ऑनलाइन अपनी भूमिका का रिकॉर्ड देख सकें। भू का अर्थ है भूमि, और लेख का अर्थ लेखन या पेपर लेखन से है। karnataka भूमि के रिकॉर्ड भूमि के नक्शे के साथ karnataka गाँव के नक्शे, भूमि संख्या से संबंधित भूमि से संबंधित जानकारी रिकॉर्ड भूमि karnataka गाँव के नक्शे rtc, इस पोर्टल योजना का मुख्य उद्देश्य आम तौर पर लोगो को मुफ्त में सेवा प्रदान करना है , ताकि किसी को पैसे खर्चा करने की जरूरत न पड़े ।

ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख –

कर्नाटक भूलेख रिकॉर्ड कर्नाटक के लोगों को उनकी भूमि के बारे में जानकारी देने के लिए है, राज्य सरकार के राजस्व भूमि सुधार विभाग के रिकॉर्ड को भूमि संसाधन विभाग के साथ संरक्षित किया गया था, लेकिन इस योजना के तहत, लोग अपनी ज़मीन या खेत की तरह अपने जमानत बांड ऑनलाइन देख सकते हैं । खसरा नंबर के जाम्बोरेट्टा मैप की कॉपी अब आप इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन देख सकते हैं। भौजिका वेब पोर्टल कर्नाटक की भूमि पर बनाया गया है।  भूमि के कम्प्यूटरीकरण के लिए किया गया है जिसे रोजमर्रा के कामों के लिए रिकॉर्ड किया जा सकता है। भोकरा पोर्टल खतौनी के पूरे जीवन चक्र को बनाए रखता है।

भूमि का उस भूमि के पूर्ण विवरण का सही अर्थ है जिसके माध्यम से आप भूमि पर मालिकाना हक दे सकते हैं, क्योंकि इसमें आपकी भूमि का पूरा विवरण होता है। भूमि दस्तावेजों के माध्यम से, कर्नाटक भूमि भूमि के नक्शे, कर्णटक गाँव के नक्शे, सर्वे नंबरों के साथ, भौंके कर्णकट गाँव के नक्शे, आरटी भीम के कर्णकट भूमि के रिकॉर्ड, जिन्हें आप आसानी से किसी भी बैंक से ऋण ले सकते हैं। कर रहे हैं। और फसल बीमा हो सकता है।

कर्णकूट भूमि भूमि रिकॉर्ड नक्शे, कर्णकट गाँव के नक्शे सर्वेक्षण संख्याओं के साथ भौंके कर्णकट गाँव के नक्शे, आरटी भूमि भूमि के अभिलेख, भूमि के भूखंड, यानी भूमि के कागजात, भूमि को साझा करने के लिए बहुत उपयोगी है। ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख देखने से पहले भूलेख क्या होता है और ऑनलाइन भूलेख के क्या लाभ है इसके बारे में जान लेते है ।

भूलेख क्या होता है ?

हम आपको आगे भूमि के बारे में लिखित रूप में जानकारी दे रहे है इसे अच्छेसे पढ़िए ताकि इसके बारे में आप अच्छेसे जान पाए। दोस्तो भूलेख को अलग अलग राज्यों में अलग अलग नामो से जाना जाता है जैसे की – भूमि का ब्यौरा, जमाबंदी, भूमि अभिलेख, खेत के कागजात, खेत का नक्शा, खाता, इत्यादि और भी बहुत ऐसे नाम है जो लोग अपने अपने हिसाब से जोड़ते है।

सबसे पहले यह जान लीजिए कि पहले कर्नाटक प्रदेश में पहले यह सब जानकारी निकलने में काफी वक्त लग जाता था जिसके कारण लोग बहुत परेशान हो जाते थे। बहुत से लोगो को यह समस्या होती थी इसीलिए इसी समस्या का समाधान करने के लिए भूलेख का रिकॉर्ड मैनेज करने के उद्देश्य से इसका भूलेख पोर्टल खतौनी को कंप्यूटरीकृत किया गया है ताकि आगे अब किसी को परेशानी का सामना न करना पड़े।

इस उपाय की मदद से अब भू-अभिलेखों का रोजना की सभी गतिविधियों का ब्यौरा सुव्यवस्थित करना आसान हो गया है अब कोई भी यह आसानी से जान पाता है। यदि आप चाहो तो भूलेख पोर्टल खतौनी की सभी जानकारी आप ऑनलाइन प्रकिया करके आसानी से प्राप्त कर सकते है। और साथ ही आप घर बअपने क्षेत्र के पटवारी से भी भूलेख की जानकारी मिल जाती है।

भूलेख क्या होता है यह तो आपने जान लिया है तो चलिए अब हम आपको ऑनलाइन भूलेख के क्या लाभ होते है इसके बारे में भी बता देते है ।

वैसे तो भूलेख के कई सारे लाभ है, परंतु हम आपको उनमे से कुछ जरूरी लाभ बताने वाले है। तो चलिए अब हम आपको उत्तर प्रदेश के भूलेख योजना के लाभ बताते है।

ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखें?

1. ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख देखने के लिए सबसे पहले landrecords.karnataka.gov.in पर आपको जाना है । आप चाहें तो यहाँ क्लिक करके डायरेक्ट जा सकतें हैं। लेकिन इस पेज पर जाने  से पहले यह समझ लें कि Bhoomi RTC या Pahani कैसे प्राप्त करें।

2. पेज पर जाते ही आपको नीचे दिखाई गई फ़ोटो जैसा पेज दिखेगा ।

ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखें? जमीन का नक्शा, जमाबंदी

3. अब आप अपना पहला नाम और अंतिम नाम दर्ज करें, एसएमएस, ईमेल आईडी और आधार कार्ड नंबर और मैसेज प्राप्त करने के लिए 10 अंकों का मोबाइल नंबर दर्ज करें ।

4. सभी विवरण इनपुट करने के बाद, अगले चरण पर क्लिक करें। इस पेज पर इन विवरणों को दर्ज करें जैसे कि जिला, तालुक, होबली, विलेज, सर्वे नंबर, सर्नोक, हिसा नं, वैधता आरटीसी, आदि।

5.अपनी Bhoomi RTC Pahani देखने के बाद, स्क्रीन पर Pay और डाउनलोड विकल्प प्रदर्शित करें पर क्लिक करें। Pay Now बटन पर क्लिक करने के बाद ₹ 10. पे करें और पीडीएफ फॉर्मेट में अपनी Bhoomi RTC Pahani डाउनलोड करें।

ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखें? जमीन का नक्शा, जमाबंदी

ऑनलाइन भूलेख के लाभ क्या हैं?

1. सबसे पहला लाभ यह है कि आप कर्नाटक प्रदेश भूलेख ऑनलाइन पोर्टल का इस्तेमाल कर सकते है ताकि आप अपनी संपत्ति के बारे में पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त कर पाए और आप इससे अपना दावा कर सकते हैं।

2. दूसरा जरूरी लाभ यह है कि आप घर बैठे अपना जमीन का रिकॉर्ड ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। आपको भूमि रिकॉर्ड के संबंध में पटवारी कार्यालय का दौरा नहीं करना पड़ेगा।

3. इसका तीसरा मुख्य लाभ यह है कि आप ऑनलाइन पोर्टल पर जाने के बाद आप अपना बहुत समय और पैसा बचा सकते हैं।

4. डिजिटल इंडिया मिशन के अनुसार, भारत सरकार, केंद्र और राज्य सरकारें डिजिटल रूप में भूमि के रिकॉर्ड को आसानी से ऑनलाइन उपलब्ध रखेंगी।

5. आप अपने जमीन और खेत के सभी विवरण आसानी से ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा डाउनलोड कर सकते हैं।

हमने आपको ऊपर के पॉइंट्स में भूलेख क्या होता है और ऑनलाइन भूलेख के क्या लाभ है इसके बारे में बताया है । अब हम आपको कर्नाटक के ऑनलाइन भूलेख कैसे देखते है इसके बारे में जानकारी दे देते है ।

Conclusion :

दोस्तो आज के इस लेख में हमने आपको कर्नाटक प्रदेश के भूलेख के बारे में जानकारी दी है। यदि यह लेख आपको पसंद आये तो ऑनलाइन कर्नाटक भूलेख कैसे देखें? जमीन का नक्शा, जमाबंदी अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here