असम ऑनलाइन भूलेख कैसे देखें? जमीन का नक्शा, जमाबंदी

2

दोस्तो आज के इस लेख में हम आपको असम का ऑनलाइन भूलेख कैसे देखा जाता है इसके बारे में जानकारी देने वाले है । असम के जमाबंदी यानी कि रिकॉर्ड ऑफ राइट्स राज्य सरकार के राजस्व विभाग द्वारा आयोजित भूमि रिकॉर्ड रजिस्टर से एक उद्धरण है। क्या आपको यह बात पता है कि असम खाता कानूनी में भूमि की संपत्ति और भूमि के धारकों के इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी होती है यदि आपको यह बात पता नही थी तो अब पता चल गई होगी । हम आपको यह भी बता देते ही कि यह दस्तावेज़ एक संपत्ति की कानूनी स्थिति का एक महत्वपूर्ण संकेतक है । असम में कई सारे गांव है और प्रत्येक गाँव के लिए अलग से राजस्व विभाग में अधिकार या जमाबंदी रजिस्टर का रिकॉर्ड रखा जाता है। पहले असम के लोगो को जमीन की जमाबंदी और भूमि के रिकार्ड्स निकलने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था परंतु जब से सारी प्रक्रिया ऑनलाइन माध्मय से होने लगी तभी से जमाबंदी के कामकाज भी जल्द से जल्द होने लगे है । 

असम जमाबंदी के रिकार्ड्स का बहुत महत्त्व रहता है जैसे कि अधिकारों का रिकॉर्ड या जमाबंदी एक संपत्ति के असली मालिक को प्रमाणित करता है । यदि आपकी संपति पर कोई झूठा दावा करता है तो संपत्ति पर झूठे दावे का पता लगाने के लिए इस भूमि रिकॉर्ड का उपयोग किया जाता है । आपके भूमि पर भी कोई कब्ज़ा नही कर सकता क्योंकि अधिकारों के रिकॉर्ड या जमाबंदी की प्रमाणित प्रति के उपयोग से भूमि कब्जाने से बच जाती है । और भी बहुत सारे जमाबंदी रिकॉर्ड्स के महत्व माने जाते है । 

जब से असम सरकार ने ऑनलाइन भूलेख शुरू कर दिया है तब से लोगो की मुसीबत कम हो गई है । क्योंकि पहले असम के लोगो को जमाबंदी और भूलेख के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे । परंतु अब ऐसा नही है । अब असम की भूलेख की पूरी जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध है ।

असम का ऑनलाइन भूलेख कैसे देखे यह बताने से पहले आपको भूलेख क्या होता है और इस असम ऑनलाइन भूलेख के क्या लाभ है यह जान लेते है ।

भूलेख क्या होता है ?

हम आपको आगे भूमि के बारे में लिखित रूप में जानकारी दे रहे है इसे अच्छेसे पढ़िए ताकि इसके बारे में आप अच्छेसे जान पाए। दोस्तो भूलेख को अलग अलग राज्यों में अलग अलग नामो से जाना जाता है जैसे की – भूमि का ब्यौरा, जमाबंदी, भूमि अभिलेख, खेत के कागजात, खेत का नक्शा, खाता, इत्यादि और भी बहुत ऐसे नाम है जो लोग अपने अपने हिसाब से जोड़ते है।

दोस्तो सबसे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि पहले असम में पहले यह सब जानकारी निकलने में काफी वक्त लग जाता था जिसके कारण लोग बहुत परेशान हो जाते थे। बहुत से लोगो को यह समस्या होती थी इसीलिए इसी समस्या का समाधान करने के लिए भूलेख का रिकॉर्ड मैनेज करने के उद्देश्य से इसका भूलेख पोर्टल खतौनी को कंप्यूटरीकृत किया गया है ताकि आगे अब किसी को परेशानी का सामना न करना पड़े।

इस उपाय की मदद से अब भू-अभिलेखों का रोजना की सभी गतिविधियों का ब्यौरा सुव्यवस्थित करना आसान हो गया है अब कोई भी यह आसानी से जान पाता है। यदि आप चाहो तो भूलेख पोर्टल खतौनी की सभी जानकारी आप ऑनलाइन प्रकिया करके आसानी से प्राप्त कर सकते है। और साथ ही आप घर अपने क्षेत्र के पटवारी से भी भूलेख की जानकारी मिल जाती है।

ऑनलाइन भूलेख के लाभ क्या है ?

वैसे तो असम के ऑनलाइन प्रणाली के कई सारे लाभ है , परंतु हम आपको यहाँ पर कुछ आवश्यक और जरूरी लाभ के बारे में बताएंगे , जिसे पढ़कर आपको ऑनलाइन प्रणाली के लाभों के बारे में जानकारी हासिल हो जाएंगी ।

1. पहले असम प्रदेश के लोगो को पटवारखाने के बार बार चक्कर काटने पड़ते थे परंतु अब असम प्रदेश के लोगों को पटवारखाने के चक्कर नहीं काटने होंगे|

2. इसका दूसरा सबसे बड़ा लाभ यह है कि अब असम प्रदेश के लोगो को भूमि का सारा रिकॉर्ड ऑनलाइन देखने को मिल जाता है , पहले देखने के लिए बहुत समस्या का सामना करना पड़ता था ।

3. पहले भूलेख देखने के लिए या भूलेख की जानकारी हासिल करने के लिए काफी चोरबाजारी बाजारी होती थी परंतु अब ऑनलाइन काम होने के कारण इससे चोरबाजारी कम हो गई है ।

4. यह इसका आखरी और सबसे बड़ा लाभ है की अब असम प्रदेश के लोग अपना खाता नंबर डाल कर भी भूमि का सारा विवरण ले सकते है ।

असम ऑनलाइन भूलेख कैसे देखे ?

1. असम ऑनलाइन भूलेख देखने के लिए सबसे पहले http://onlineedistrict.amtron.in/ इस वेबसाइट पर जाना है ।

2. जैसे ही आप ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करते हो वैसे ही आपके सामने नीचे दिखाया गया पेज ओपन हो जाएगा ।

3. आपको प्रमाण पत्र सेवाओं के लिए create account in state portal जो कि ऊपर दिए गए इमेज में सबसे नीचे दिखाई दे रहा है । यहां पर आपको क्लिक करना है ।

4. इस पर क्लिक करके लिंक लॉगिन पेज पर रीडायरेक्ट करेगा, जैसे कि आपको नीचे की इमेज पर दिखाई दे रहा है ।

4. ऊपर दिए गए इमेज के इस पेज पर आपको क्रिएट एकाउंट दिख रहा होगा उस पर क्लिक करके एकाउंट बनाना है और एकाउंट बनाते समय उसमे पूरी जानकारी भरना है , इसके बाद क्यापचा कोड डालकर सेव बटन पर क्लिक करना है । आप नीचे की इमेज में देख सकते है ।

Conclusion:

दोस्तो आज के इस लेख में हमने आपको असम प्रदेश के भूलेख के बारे में जानकारी दी है । यदि यह लेख आपको पसंद आये तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here